Wednesday, June 3, 2009

बेसहारा हुए शिवराजसिंह चौहान और नरेन्द्रसिंह तोमर

भोपाल। लोकसभा चुनाव में मात खाने के बाद भाजपा का आईटी प्रकोष्ठ निष्क्रिय हो गया है। बड़ी धूम धाम के साथ शुरू किए गए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और अब मुरैना सीट से संसद नरेंद्र सिंह तोमर के ब्लॉग बेसहारा हो गए हैं।
मध्य प्रदेश में भाजपा ने लोकसभा में मात क्या खाई कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर कि वेबसाईट व ब्लॉग बेसहारा हो गए हैं। प्रचार अभियान के दौरान सुचना प्रोद्यिगिकी धूमधाम के बीच आरंभ किए गए। ब्लॉग व वेबसाईट पर एक महीने से अपडेट नही है। ब्लोग्स पर पुराणी पोस्ट धूल खा रही है। और भाजपा को एक वोट देने कि मांग अब भी कायम है।
जीतेगी भाजपा जीतेगा कमल-"केन्द्र में हो भाजपा सरकार, मध्यप्रदेश में चले दो गुनी रफ्तार" ये नारे वेब साईट के मुखमंडल पर अब भी सुशोभित है। जबकि नतीजे सामने आने के बाद भी भाजपा के सुचना प्रोद्यिगिकी प्रकोष्ठ के उन दो हजार आईटी के जानकारों को इन्हे अपडेट करने कि नही सूझी है। जो प्रदेश के प्रचार अभियान में जुटे थे। गौरतलब है कि प्रकोष्ठ में भोपाल में २४ अप्रैल को मुख्यमंत्री के हाथों प्रदेश अध्यक्ष के ब्लॉग और वेब साईट का शुभारंभ तकनीकी तामझाम के साथ कराया था
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का ब्लॉग- http://blog.shivrajsinghchouhan.in/
18 se 26 अप्रैल के बीच हुई कुल 4 पोस्ट
पहली पोस्ट में स्वर्णिम मध्यप्रदेश कि अवधारणा पर चर्चा, दूसरी तरफ़ एक वोट भाजपा को, मध्यप्रदेश 100 कदम विकास कि और। जबकि तीसरी पोस्ट में पीएम -सीएम के चुनाव एक साथ करने कि पैरवी और आखिरी पोस्ट विवेकानंद के व्यक्तित्व पर है।
नरेंद्र सिंह तोमर का ब्लॉग - http://blog.nstomar.in/
28 अप्रैल से 2 मई के बीच कुल 4 पोस्ट
पहली पोस्ट में समाज के हर वर्ग से जुड़ने का संकल्प, दूसरे में मुरैना के चहुंमुखी विकास कि 11 घोषनाये, तीसरी पोस्ट लोकतंत्र के महायज्ञ में वोट कि आहुति परऔर आखरी पोस्ट में मध्यप्रदेश के मतदाताओं को साधुवाद दिया है।